गुड़ खाने के अद्भुत फायदे: अस्थमा, डायबिटीज, दिल समेत बहुत सी बीमारियों के लिए रामबाण है

(Benefits of Jaggery) भारतीय संस्कृति मे गुड का सेवन अत्यंत लाभकारी माना गया है। गुड का सेवन करने से स्वास्थ मे कई प्रकार के (Gud Khane Ke Fayde) फायदे होते है। गुड को प्रार्क्रतिक मिठाई के तौर पर भी पहचाना जाता है।

गुड़ खाने के अद्भुत फायदे: अस्थमा, डायबिटीज, दिल समेत बहुत सी बीमारियों के लिए रामबाण है

हमारे गाँवो मे आज भी लगभग हर घर मे गुड खाया जाता किन्तु आधुनिकता की इस दौड़ मे मुख्यतः शहरो मे गुड की जगह चीनी ने ले ली है। चीनी किसी भी प्रकार से स्वास्थ्य के लिए लाभकारी नहीं है वरन नुकसान दायक होती है। जहां चीनी हमे नुकसान पहुचाती गुड़ हमारे लिए हितकारी होता है। हालांकि चीनी और गुड दोनों ही गन्ने से बनाए जाते है, किन्तु चीनी बनाने मे गन्ने के रस मे मौजूद आइरन,  कैल्शियम, पोटेशियम, फास्फोरस जैसे पोषक तत्व नष्ट हो जाते हैं जबकि गुड़ बनाते समय ऐसा नहीं होता। इन तत्वो के साथ मे गुड़ मे विटामिन ए और विटामिन बी भी पाये जाते है। आयुर्वेद के अनुसार प्रतिदिन गुड़ का थोड़ा-थोड़ा सेवन करने से व्यक्ति कई प्रकार के रोगो से मुक्त होता है।

गुड़ में पाये जाने वाले तत्व (Jaggery Nutrition)

  • गुड़ में पानी(30-40%)
  • सुक्रोज़ (40-60%)
  • चीनी (15-25%)
  • कैल्शियम (0.30%)
  • आयरन (8.5-10mg)
  • फॉस्फोरस (05-10mg)
  • प्रोटीन (0.10-100mg)
  • विटामिन बी (04-100mg)
  • कार्बोहाइड्रेट(98%) 

आइए हम गुड़ खाने के फ़ायदों को (Benefits of Jaggery)

1. आइरन की कमी होने पर

शरीर मे खून की कमी होने पर आइरन तत्व की कमी हो जाती है ऐसे मे गुड़ का सेवन लाभप्रद होता है। गुड़ मे आइरन तत्व बाहुतायत मे पाया जाता है जो खून की कमी  और हीमोग्लोबिन की कमी दूर करने मे सहायता करता है।

यह भी पढ़े: Aloe vera In Hindi | एलो वेरा  के फायदे, नुकसान , प्रयोग

2. पेट की समस्याओ के लिए

पेट से संबन्धित कई रोगो के लिए गुड़ रामबाण इलाज है। खट्टी डकार आने या पेट फूलने पर गुड़ और सेंधा नमक या काला नमक मिला कर खाने से तुरंत आराम प्राप्त होता है। खाना खाने के बाद मे थोड़ी मात्रा मे गुड़ खाने से पाचन ठीक से होता है। प्रतिदिन सुबह गुनगुने पानी मे गुड़ डालकर पीने से पेट मे  पेट में गैस, एसिडिटी, पेट दर्द, कब्ज आदि की समस्या दूर होती है।

3. त्वचा के लिए

गुड़ त्वचा की सेहत के लिए भी गुणकारी है। गुड़ से शरीर मे मौजूद हानिकारक टोक्सिन्स बाहर हो जाते है तथा खून पूरी तरह शुद्ध हो जाता है। ऐसा होने से मुहांसों की समस्या नहीं होती तथा त्वचा मे चमक आती है।

4. थकान या कमजोरी के लिए

गुड़ तुरंत एनर्जी का स्त्रोत है। पहले गाँवो मे कोई मेहनत का शुरू करने से पहले गुड खाया जाता था क्योंकि यह ऊर्जा के स्तर को बढ़ाता है जिससे थकान महसूस नहीं होती।

यह भी पढ़े: Methi Dane Ke Fayde | गुणो से भरपूर मेथी दाना (Fenugreek Seed) के लाजवाब फायदे

5. गर्मी के नियंत्रण के लिए

वैसे तो गुड़ को गरम तासीर का माना जाता है पर     पानी के साथ इसको घोलकर पीने से यह ठंडक प्रदान करता है और गर्मी कम करता है।

6. दिल की बीमारी के लिए

गुड मे मौजूद पोटेशियम रक्तचाप को नियंत्रित कर दिल संबंधी रोगो के लिए लाभकारी होता है। दिल के रोगियो के लिए चीनी नुकसानदायक होती है ऐसे मे गुड एक अच्छा विकल्प होता है।

7. अस्थमा के रोगियो के लिए

गुड मे एंटी एलेर्जिक तत्व पाये जाते है जो अस्थमा रोगियो के लिए फायदेमंद होते है। सर्दीयो मे गुड और तिल के लड्डू के सेवन से अस्थमा मे आराम मिलता है।

यह भी पढ़े: Boost Your Immune System: कैसे अपनी इम्युनिटी पावर मजबूत करे और रोगो से बचे रहे

8. सर्दी जुकाम के लिए

गुड का सेवन जुकाम और कफ़ से आराम दिलाता है. अगर सूखी खांसी या गले में खराश जैसी समस्याएं हैं तो यह आपको काफी आराम देगा। इसकी वजह यह है कि गुड़ नसों को फैला देता है जिससे रक्त संचार बढ़ता है और साँस की नली को आराम पहुंचता है। कफ की शिकायत होने पर या  खाँसी से परेशानी होने पर थोड़ा गुड़ तथा सरसों का तेल मिलाकर खाने से साँस सरल हो जाती है।     

9. जोड़ो के दर्द के लिए

हड्ड‍ियों के लिए भी  गुड का सेवन अच्छा है | गुड़ खाने से हड्डियां मजबूत होती हैं. गुड़ में कैल्‍शियम भी होता है इसके साथ ही साथ फास्‍फोरस भी गुड़ में भरपूर होता है. यह दोनों ही चीजें हड्डियों के लिए अच्छी हैं. गुड़ और अदरक को साथ खाने से जोड़ों और घुटनों के दर्द में आराम मिलता है | आयुर्वेद के अनुसार गुड वात नाशक होता है इसलिए हड्डियों से जुडी समस्याओ में गुड-चना खाने की सलाह दी जाती है |