तुलसी के फायदे (Benefits of Tulsi In Hindi): सेवन के लाभ एवं सावधानिया

तुलसी के फायदे (Benefits of Tulsi In Hindi): हमारी संस्कृति में तुलसी को पवित्रता का प्रतीक माना गया है. आयुर्वेद के अनुसार तुलसी स्वास्थ की दृष्टि से काफी लाभप्रद होती है इसिलए तुलसी का उपयोग विभिन्न उपचारो के लिए किया जाता है.

तुलसी के फायदे (Benefits of Tulsi In Hindi): सेवन के लाभ एवं सावधानिया

तुलसी (Holy basil) को ''जड़ी बूटियों की रानी '' कहा जाता है| यह औषधीय गुणों से भरपूर होती है| तुलसी के पौधे का औषधीय महत्व होने के साथ साथ धार्मिक महत्व भी है| हमारी संस्कृति में तुलसी को पवित्रता का प्रतीक माना गया है| जिस घर में तुलसी है का पौधा होता है वहां का वातावरण शुद्ध होता है तथा हानिकारक बैक्टीरिया (bacteria) वहाँ कम होते है| आयुर्वेद के अनुसार तुलसी स्वास्थ की दृष्टि से काफी लाभप्रद होती है इसिलए तुलसी का उपयोग विभिन्न उपचारो के लिए किया जाता है| आइये हम तुलसी के विभिन्न फायदों के बारे में जानते है.

तुलसी सेवन के फायदे (Benefits of Tulsi In Hindi)

1 . तुलसी इम्युनिटी (Immunity System) के लिए काफी फायदेमंद होती है| यह रोग प्रतिरोधक क्षमता (immunity power) को बढ़ाने में सहायक होती है| जिनकी इम्युनिटी कमजोर होती है या जो बार बार बीमार पढ़ते है उनको तुलसी के नियमित सेवन से काफी लाभ प्राप्त होता है| तुलसी से इम्युनिटी पावर प्राकृतिक रूप से बढ़ती है| इम्युनिटी बढ़ाने के लिए तुलसी के काढ़े का इस्तेमाल किया जाना चाहिए|

2 . तुलसी के सेवन से तनाव कम होता है। यह शरीर में कोर्टिसोल (cortisol) के स्तर को संतुलित करने में मदद करती  है| कोर्टिसोल एक प्रकार का हार्मोन है जो तनाव (stress) के लिए जिम्मेदार होता है| इसका स्तर कम होने से तनाव एवं थकान में कमी होती है| तुलसी में एंटी ऑक्सीडेंट्स (anti oxidants) बहुतायत में पाए जाते है|

Also Read: Aloe vera In Hindi | एलो वेरा  के फायदे, नुकसान , प्रयोग

3 . सर्दी जुकाम और खांसी(cough and cold) होने पर भी तुलसी अत्यंत उपयोगी है| तुलसी का सेवन शरीर में बैक्टीरिया के प्रभाव को रोकता है तथा सर्दी खांसी की रोकथाम करता है| तुलसी के पत्तो का लौंग (clove) और काली मिर्च (black pepper)  के साथ बना  काढ़ा नियमित रूप से लेने पर  सर्दी खांसी में  आराम मिलता है| यह कफ को कम करने में सहायक होती है।

4. मुँह के स्वास्थ के लिए तुलसी का उपयोग करना लाभप्रद होता है|तुलसी के एंटी बैक्टीरियल गुणों के कारन  यह मुँह के हानिकारक बैक्टीरिया को खत्म करती है| इसके सेवन से दांतो की एवं मसूड़ों के रोगो में आराम मिलता है

5. तुलसी में विटामिन ए (vitamin A) पाया जाता है जो आँखों के स्वास्थ के लिए जरुरी है|तुलसी का रस रतौंधी (night blindness) और कंजक्टीवाइटिस के लिए फायदेमंद होता है|

6. तुलसी के नियमित उपयोग से खून में मौजूद हानिकारक कोलेस्ट्रॉल (cholesterol) का स्तर कम होता है| इसके कम होने से हृदय (heart) से सम्बंधित रोगो में फायदा मिलता है| तुलसी के प्रतिदिन सेवन से रक्तचाप (blood pressure), मधुमेह (diabetics),तथा थाइरॉइड(thyroid) से ग्रसित रोगियों को भी आराम मिलता है|

Read Also: Boost Your Immune System: कैसे अपनी इम्युनिटी पावर मजबूत करे और रोगो से बचे रहे

7. तुलसी के एंटी बैक्टीरियल गुणों के कारण यह त्वचा के संक्रमण के लिए भी बहुत सहायक होती है| तुलसी में एंटी फंगल (anti fungal) गुण भी होते है जो हमारी त्वचा को संक्रमण से बचाते है| अगर आप प्रतिदिन तुलसी की कुछ पत्तियों का सेवन करते हैं, तो उससे एक्जिमा व विटिलिगो से कुछ राहत मिल सकती है।

तुलसी का सेवन सामान्य तौर पर सुबह खली पेट करने सर्वाधिक फायदेमंद होता है| तुलसी के पत्तो के साथ अदरक (ginger) पाउडर  शहद (honey) मिलाकर, हर्बल चाय(herbal tea)  के रूप में  इस्तेमाल किया जा सकता है|हम जूस में तुलसी के पत्ते डालकर उपयोग कर सकते है|

हालाँकि तुलसी का सेवन हर प्रकार से फायदेमंद होता है पर तुलसी के उपयोग में कुछ सावधानिया भी होती है| जैसेकी तुलसी हमारे रक्त को पतला करती है इसीलिए खून को पतला करने वाली दवाओं के साथ इसका सेवन नहीं करना चाहिए। गर्भावस्था एवं स्तनपान के समय भी तुलसी का सेवन नहीं करना चाहिए।